तिहरा शतक जड़कर दे दिया अपने टैलेंट का सबूत,IPL में नहीं बिका था ये खिलाड़ी

34 साल के मनोज तिवारी आखिरी बार 2015 में जिम्‍बॉब्‍वे टूर पर गए थे. उन्‍हें इस साल IPL की नीलामी में किसी टीम ने नहीं खरीदा.

पश्चिम बंगाल के कप्‍तान मनोज तिवारी को इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की नीलामी में किसी टीम ने नहीं खरीदा. वह इससे निराश हैं मगर उनका हौसला नहीं टूटा है. रणजी ट्रॉफी में सोमवार को उन्‍होंने हैदराबाद के खिलाफ नाबाद 303 रन की पारी खेलकर अपने टैलेंट का सबूत दे दिया. 34 साल के तिवारी को शायद ही टीम इंडिया में मौका मिले. आखिरी बार वह 2015 में जिम्‍बॉब्‍वे टूर पर गए थे.

तिवारी ने खेल खत्‍म होने के बाद कहा, “IPL खेलने का चांस न मिलने की बात पचा पाना मुश्किल हैं. निश्चित तौर पर बुरा लगता है जब आप इतने सारे युवाओं को खेलते देखते हो और आप घर पर बैठकर उन्‍हें देख रहे होते हो. मैं वो शॉट लगा सकता है. ये कड़वा सच है.”

मनोज तिवारी घरेलू सीजन में लगातार रन बनाते रहे हैं. देवधर ट्रॉफी और विजय हजारे में 100 से ज्‍यादा औसत से रन बनाने वाले वह इकलौते बल्‍लेबाज हैं. रणजी ट्रॉफी में बंगाल की तरफ से तिहरा शतक लगाने वाले वह दूसरे खिलाड़ी हैं. इनसे पहले, देवांग गांधी 1998 में 323 रन बना चुके हैं.

क्‍या है मैच का हाल?

तिवारी के तिहरे शतक के दम पर बंगाल ने ग्रुप ए के मैच के दूसरे दिन अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 635 रनों पर घोषित कर दी. तिवारी ने 414 गेंदों पर नाबाद 303 रनों की पारी खेली. उनके साथ अर्नब नंदी 65 रन बनाकर नाबाद लौटे. तिवारी ने अपनी पारी में 30 चौके और पांच छक्के लगाए जबकि नंदी ने 83 गेंदों की पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया.

इन दोनों के अलावा श्रीवत्स गोस्वामी ने 165 गेंदों का सामना कर 95 रन बनाए. अनूस्तूप मजूमदार ने 59 रनों की पारी खेली. बंगाल ने दूसरे दिन की शुरुआत पांच विकेट के नुकसान पर 366 रनों के साथ की थी. दिन का खेल खत्म होने तक हैदराबाद ने अपने पांच विकेट महज 83 रनों पर ही खो दिए हैं. जावेद अली 19 और कप्तान तन्मय अग्रवाल 10 रन बनाकर खेल रहे हैं. बंगाल के लिए अभी तक अक्षदीप ने तीन और मुकेश कुमार ने दो विकेट लिए हैं. (IANS इनपुट्स)

Live Cricket

Related Articles

Back to top button
Close
Close