कुसमी अंचल में नवरात्रि की धूम,जगह -जगह विराजमान हुईं माँ दुर्गा(अष्ठभुजी मंदिर गोतरा में लगा भक्तों का तांता।

अमित श्रीवास्तव।

पूरे कुसमी अंचल तक इन दिनों नवरात्रि की धूम मची हुई है गाँव-गाँव में माँ दुर्गा विराजमान हैं शक्ती की भक्ती का महापर्व 17 अक्टूबर से प्रारम्भ हो गया है कुसमी के समस्त गाँव गाँव तक दुर्गा पंडालों में कलश यात्रा के साथ माँ दुर्गा विराजी गयी हैं जिससे कुसमी का पूरा अंचल भक्तमय हो गया है वहीँ जिले से 40 किलो मीटर दूर सुप्रसिद्ध स्तिथ अष्ठभुजी मंदिर गोतरा में भक्तजनों भीड़ नवरात्रि प्रारम्भ होने के शुरुआती दिनों से ही अष्ठभुजी माँ के दर्शन के लिए आसपास के गाँव के अलावा दूर दूर तक के भक्तों की भारी भीड़ तड़के भोर से देर शाम तक बनी हुई है जो अनवरत रूप से जारी है जो दशहरा तक जारी रहेगी साथ ही कुसमी के गाँव गाँव तक बनाये गए दुर्गा पंडालो में भी शारदीय नवरात्रि प्रारम्भ होने के दिन से ही सुबह शाम ग्रामीण महिला पुरुष जन माँ दुर्गा की आराधना कर पूजा भक्ती में डूब गए हैं ज्ञात हो शनिवार से नवरात्रि प्रारम्भ होते ही मंदिरों और पूजा पंडालो में कलश स्थापना के साथ ही माँ दुर्गा की आराधना प्रारम्भ हो गयी है जो अनवरत रूप से जारी है —————-आज षष्टमी को भी रही भारी भीड़ ,लोगो ने कराया कन्या भोज————-नवरात्रि के शुभ पावन अवसर पर गोतरा अष्ठभुजी मंदिर परिसर में भक्तों द्वारा भंडारे का आयोजन कर कन्या भोजन कराकर आम लोगों एवम दर्शनार्थियों को भी भंडारे का प्रसाद खिलाकर पुण्य लाभ कमाये माँ अष्ठभुजी मंदिर में आज नवरात्रि के छठवें दिन सुबह से शाम तक भंडारा का आयोजन चलता रहा जहाँ भारी भीड़ देखी गयी इस दौरान भंडारे का आयोजन करने वालों में जनपद के वरिष्ठ लेखाधिकारी जे पी झरिया,कम्प्यूटर ऑपरेटर अखिलेश पांडेय,समाजसेवी संतकुमार जायसवाल, शिवभान गुप्ता अमगाव सहित अन्य लोग शामिल हैं जहां का पूरा वातावरण भक्तिमय रहा।————अष्ठमी ,नवमी को होगी भारी भीड़,सुरक्षा के लिहाज से मौजूद है पुलिस ———गोतरा अष्ठभुजी मंदिर में वैसे तो नवरात्रि के पावन पर्व पर हर दिन भक्तों की भारी भीड़ रहती है लेकिन सबसे ज्यादा भक्तों कीभीड़ ,दुर्गाअष्ठमी और दुर्गा नवमी के दिन होती है जहां भक्तों द्वारा माँ अष्ठभुजी के दर्शन ,के साथ कन्यापूजन के साथ भंडारे का भी आयोजन किया जाता है अष्ठमी और नवमी के दिन मंदिर समिति के अध्यक्ष दूलमनाथ गोस्वामी,सचिव दिनेश शुक्ला,शिवमूरत विश्वकर्मा,रामशुशील शुक्ला ,गौरीशंकर गोस्वामी,सरपंच शंकर सिंह सचिव बी के शुक्ला सहित मंदिर के अन्य सदस्यों द्वारा भक्तों को किसी प्रकार के दिक्कतों का सामना न करना पड़े इसके लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं वहीँ सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कुसमी टी आई अजय कुमार सिंह पूरी तरह से संजीदा है जिनके नृतत्व में कुसमी पुलिस के जवानों को मंदिर परिसर में मौजूद किया गया है ।———-इन जगहों में स्थापित की गईं माँ दुर्गा की प्रतिमा——-कुसमी मुख्यालय में कुसमी, छपरा टोला,भगवार में भगवार चौराहा,तहसील प्रांगण,विमल के घर के पास,जूरी, रौहाल,मेड़रा,दुआरी,कमछ,धुपखड़,पोंड़ी(वस्तुआ),धुपखड़, छुहिया,टमसार,ठाड़ीपाथर,गुडुआधार,शाजाडोल,धुम्माडोल,ददरिहा,पोंड़ी,बजबई,गोतरा चौराहा,गोतरा उत्तरटोला, भदौरा,शंकरपुर,दरीमा डोल, कतरवार,निधपुरी,धुँआडोल,भुइमाण,करैल,केशलारअमरोला,गांजर(नौढिया),देवार्थ(नौढिया)सहित पूरे गाँव गाँव तक माँ की प्रतिमा स्थापित की गई हैं ।————नारियल चुनरी से सजा है बाजार——-माँ अष्ठभुजी मंदिर के समीप स्थानीय दुकानदारों द्वारा नारियल,रेवड़ी,चुनरी से पूरा बाजार को सजाया गया है जो देखते ही बनती हैं इन दुकानदारो द्वारा नारियल चुनरी के साथ माँ के सोलह श्रंगार और फल फूल की दुकांनो को लगाकर विक्री की जा रही है।

Live Cricket

Related Articles

Back to top button
Close
Close